पाकिस्तान में गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर हमले को ले भारत मे विरोध , CM ममता ने कहा- ये स्वीकार नहीं

पाकिस्तान में गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर हमले का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. भारत में भी इस हमले को लेकर विरोध जताया जा रहा है. वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इस हमले की निंदा की है.
ममता बनर्जी ने ट्वीट करते हुए कहा है, 'हम पाकिस्तान में गुरुद्वारा ननकाना साहिब में हुई हिंसा की घटना की निंदा करते हैं. यह अस्वीकार्य है. मानवता सब से ऊपर आती है.'
राहुल गांधी ने ननकाना साहिब पर हमले की निंदा की
ममता बनर्जी से पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी पाकिस्तान में ननकाना साहिब पर हमले की निंदा की. उन्होंने शनिवार को कहा कि परस्पर सम्मान और प्रेम की बदौलत ही धर्मान्धता के जहर को खत्म किया जा सकता है.
उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'ननकाना साहिब पर हमला निंदनीय है और इसकी खुल कर भर्त्सना करनी चाहिए. धर्मान्धता खतरनाक है और यह बहुत पुराना जहर है जिसकी कोई सीमा नहीं होती. प्रेम, परस्पर सम्मान और समझ ही इस जहर को खत्म करती है.' वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि ऐसी किसी भी घटना की निंदा होनी चाहिए.
पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, 'ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हुआ हमला मानवता के आदर्शों व धार्मिक मूल्यों को शर्मसार करने वाली घटना है. इस हमले के लिए सीधे तौर पर पाकिस्तान की सरकार ज़िम्मेवार है. इस घटना की हम कड़े शब्दों में निंदा करते हैं. पाकिस्तान की सरकार ननकाना साहिब की सुरक्षा सुनिश्चित करे.'
भारत ने की कड़ी निंदा
शुक्रवार को भारत ने पाकिस्तान में पवित्र ननकाना साहिब गुरद्वारे में तोड़फोड़ की कड़ी निन्दा की. साथ ही पाकिस्तान से वहां सिखों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए तत्काल कदम उठाने को कहा. विदेश मंत्रालय ने कहा, 'भारत इस पवित्र स्थान पर तोड़फोड़ और बेअदबी की हरकतों की कड़ी निंदा करता है. हम पाकिस्तान सरकार से सिखों की सुरक्षा एवं कल्याण सुनिश्चित करने के लिए तत्काल कदम उठाने का आह्वान करते हैं.'
मंत्रालय ने कहा, 'उन बदमाशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए जो इस पवित्र गुरद्वारे में बेअदबी में शामिल हैं और जिन्होंने अल्पसंख्यक सिखों पर हमला किया है.'

Post a Comment

0 Comments