यूपी में बवालियों की हुई गिरफ्तारी पर भड़की प्रियंका गांधी, योगी सरकार पर साधा निशाना

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध की आड़ में उत्तर प्रदेश में मच रहे तांडव को लेकर योगी सरकार की कड़ी कार्यवाई पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने तीखे सवाल किये है। प्रियंका गांधी ने कहा कि NRC और CAA भारत के संविधान के मूल आत्मा के खिलाफ है, हम किसी भी कीमत पर बाबा साहेब अंबेडकर के संविधान पर हमला नहीं होने देंगे। इस हमले के खिलाफ जनता सड़क पर उतर कर संविधान को बचाने के लिए लड़ रही है लेकिन सरकार बर्बर दमन और हिंसा पर उतारू है। ये नया कानून देश की गरीब जनता के खिलाफ है। 
इसके साथ ही प्रियंका ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि नोट बंदी से गरीबों को लाइन में खड़ा किया था, अब NRC और CAA के नाम पर लोगों को लाइन में खड़ा करेगी। एक ‘कट ऑफ डेट’ तय करेगी और हर एक भारतीय को अपनी भारतीयता सिद्ध करने के लिए उस डेट के पहले का कोई मान्य दस्तावेज पेश करना पड़ेगा। नए कानून को लागू करने के बाद ज़्यादातर गरीब और वंचित लोगों को प्रताड़ित किया जाएगा।
देश के कई हिस्सों से हिंसा प्रदर्शन के मामले में छात्रों, बुद्धिजीवियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, वकीलों और पत्रकारों की अवैध रूप से गिरफ्तारियां निंदनीय हैं। पूरे देश समेत उत्तर प्रदेश के हर जिले से लोगों को पुलिस गिरफ्तार करके कहां ले जा रही है, कही उनका कुछ पता नहीं चल रहा है। यह लोकतंत्र के लिए काला दिन है। वही यूपी की राजधानी लखनऊ में दो दिन से कई सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं को पुलिस अवैध हिरासत में रखी हुई है और उनके परिजनों को उनकी गिरफ्तारी की कोई खबर नहीं दी गई।

Post a Comment

0 Comments