सहरसा अनुमंडलीय स्तरीय टास्क फोर्स बैठक का आयोजन

6 जनवरी से 19  जनवरी तक चलेगा दुसरा राउंड 
जिले के 5 प्रखंड है चयनित  
सर्वे एवं ड्यू लिस्टिंग करने पर जोर

सहरसा :  जिले में नियमित टीकाकरण से वंचित बच्चों एवं गर्भवती माताओं को प्रतिरक्षित करने के लिए सघन मिशन इन्द्रधनुष 2.0 के दूसरे चरण की शुरुआत होगी। दूसरा चरण 6  जनवरी से 19 जनवरी तक चलेगा। अभियान के तहत 2 साल तक के  बच्चे एवं  गर्भवती महिलाओं को प्रतिरक्षित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. इसको लेकर  अनुमंडलीय पदाधिकारी की अध्यक्षता में सोमवार को  बैठक आयोजित की  गई।
बैठक की शुरुआत करते हुए  उपविकास आयुक्त   राजेश कुमार सिंह ने कहा  सघन मिशन इन्द्रधनुष 2.0 का पहला राउंड काफ़ी सफल रहा है. सभी लक्षित बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को प्रतिरक्षित करने में सफलता मिली है. इसी तरह दूसरे चरण को भी सफ़ल करने की जरूरत है। उन्होंने बताया  मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। इसे भी सफल करने की जरूरत है। उन्होंने कहा  अभियान के कार्यों को समय पर पूरा कर लें। इसके लिए बैठक में उपस्थित प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी तथा अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को दिशा निर्देश दिया।

सामूहिक सहभागिता जरूरी: 

सदर एसडीओ शुंभुनाथ झा ने कहा जिले को पीएमओ आफिस दिल्ली की तरफ से सराहना मिली है। यह जिले के लिए अच्छी खबर है। सम्पूर्ण टीकाकरण बच्चों के लिए जरूरी होता है। इसको लेकर सरकार भी गंभीर है। इसलिए छुटे हुए बच्चों को प्रतिरक्षित कराने के मकसद से चलाई जा रही सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 अभियान को सफल बनाए। इसके लिए सब की सामूहिक सहभागिता जरूरी होगी।

सर्वे एवं ड्यू लिस्टिंग जरूरी:  

 जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ कुमार विवेकानंद ने बताया अभियान के प्रथम चरण में  एएनएम के साथ जिला एवं प्रखंड स्तरीय अधिकारीयों एवं कार्यकर्ताओं का भी आपेक्षिक सहयोग प्राप्त हुआ. जिससे सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 का पहला राउंड सफल रहा था। 6 जनवरी से दूसरा राउंड शुरू होगा, जो 19 जनवरी तक चलेगा। इसके लिए समय से चिन्हित बच्चों का सर्वे एवं उनकी ड्यू लिस्टिंग जरूरी है।
उन्होंने बताया जिन प्रखंडों में आशा एवं आशा फैसिलिटेटर का भुगतान लंबित है, उनका शीघ्र ही भुगतना सुनिश्चित कराया जाए। 

प्रचार-प्रसार रहा कारगर:  

डॉ. कुमार विवेकानंद ने बताया अभियान के पहले चरण की  सफलता में  प्रचार-प्रसार भी काफ़ी कारगर रहा है . दूसरे चरण के लिए भी व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार  करना है। चिन्हित प्रखंडों में टीकाकरण से पहले ही क्षेत्रीय कार्यकर्ताओं ने अभियान के विषय में लोगों को जागरूक करना शुरू करने का काम करे तथा समय सर्वे का काम पूरा कर लें।

मार्च तक सारे चरण होंगे खत्म:

अभियान का तीसरा चरण 3 फरवरी 2020, तथा चौथा चरण 2 मार्च 2020 से प्रारंभ होगा।

5 प्रखंडों में होगा  टीकाकरण:

 यूनिसेफ के एसएमसी मजरूल हसन  तथा डब्ल्यूएचओ के  एसआरटीएल डॉक्टर राजेश कुमार वर्मा ने प्रोजेक्टर के माध्यम से पिछले चक्र का डाटा दिखाया। साथ ही दूसरे चक्र की कार्य योजना पर चर्चा की। उन्होंने बताया अभियान के  जिले के कुल प्रखंडों का चयन किया गया है .  जिसमें सलखुआ , सत्तर कटैया ,सिमरी बख्तियारपुर , सोनबरसा  एवं बनमाईटहरी में  साइट का चयन किया गया है। कार्यक्रम के  अंत में एसबीएम स्कूल की छात्रा जेबा हसन के द्वारा टीकाकरण पर गीत  सुनाया गया।

इस मौके पर जिला सविल सर्जन  डॉ ललन प्रसाद सिह, बैठक में  प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, बाल विकास पदाधिकारी , केयर इंडिया के डीटीएल रोहित रैना, महिला पर्यवेक्षिका  प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी , प्रखंड विकास पदाधिकारी,सीफार के डिविजनल कोऑर्डिनेटर प्रोग्राम युगेशवर कुमार राजा, आशा  युनिसेफ के बीएमसी दिनेश लाल दास, शंभु सिह, डब्ल्यूएचओ के फील्ड मॉनिटर मोहम्मद फिरोद आलम, बीएचएम, बीसीएम, एएनएम, आशा फेसिलेटर अन्य लोग मौजूद थे।


Post a Comment

0 Comments