SPG बिल पर लोकसभा में अमित शाह बोले- राहुल गांधी ने 2,137 बार सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया

नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एसपीजी अधिनियम संशोधन विधेयक पर जवाब देते हुए कहा कि मैं इस सदन में बिल लेकर आया था लेकिन विपक्षी पार्टियों ने सदन में इसे बदले की राजनीति कहकर सदन को ही रोक दिया. अमित शाह ने का कि बदले की राजनीति करना मेरी पार्टी के संस्कारों में नहीं हैं. मनीष तिवारी के सवाल का जवाब देते हुए गृह मंत्री ने कहा कि मैं कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि गांधी परिवार की सुरक्षा के लिए सुरक्षाकर्मी कम नहीं किए गए हैं बल्कि बढ़ाए गए हैं. उन्होंने कहा कि सिर्फ गांधी परिवार ही नहीं बल्कि पूरे देश के एक-एक नागरिक की सुरक्षा की जिम्मेदारी इस देश की सरकार की है.

सीपीआई सांसद डी राजा के सवाल पर जवाब देते हुए शाह ने कहा कि सभी नेताओं को सुरक्षा दी जा रही है लेकिन हर नेता को प्रधानमंत्री की सुरक्षा नहीं दी जा सकती है. वहीं टीएमसी सांसद सुदीप बंदोपाध्याय ( का जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा कि सभी मुख्यमंत्रियों को जेड प्लस सुरक्षा नहीं दी जा सकती उनकी सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ (CRPF) तैनात है. जिन राज्यों में जरूरत पड़ी है वहां मुख्यमंत्रियों को भी जेड प्लस सुरक्षा कवर दिया गया है. एनके प्रेमचंद्रन के जवाब में उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार  कभी भी सुरक्षा के फैसले बदले के भाव से नहीं ले सकती है.

अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी 2015 के बाद से अब तक 1892 बार दिल्ली में और 245 बार दिल्ली के बाहर एसपीजी सुरक्षा कवर के बाहर गए. अमित शाह ने कहा कि सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी और राहुल गांधी के लिए कहा कि मैं इन तीनों महानुभावों से अपील करता हूं कि सीआरपीएफ की सुरक्षा अपने साथ में ज़रूर रखें. अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास 20 साल से सुरक्षा है लेकिन आजतक उनकी सुरक्षा में कोई फाउल नहीं आया.

Post a Comment

0 Comments