साध्वी प्रज्ञा ने अपने बयान के लिए मांगी माफी, लेकिन नाम लिए बिना राहुल गांधी पर साधा निशाना

डेस्क । भोपाल से सांसद और भाजपा नेता साध्वी प्रज्ञा ने संसद में अपने बयान के लिए माफी मांगी है लेकिन माफी मांगने के दौरान नाम लिए बिना कांग्रेस नेता राहुल गांधी के उस बयान पर भी निशाना साधा है जिसमें राहुल गांधी ने कहा था कि एक आतंकी प्रज्ञा ने आतंकी गोडसे के देशभक्त बताया है। साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि मैं अपने बयान को लेकर माफी मांगती हूं, लेकिन मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया। साध्वी प्रज्ञा ने यह भी कहा कि मुझे आतंकी  बताना एक सांसद का अपमान है। साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि उनके खिलाफ साजिश रची गई है।  

संसद में साध्वी प्रज्ञा जब अपने बयान को लेकर माफी मांग रही थी और बयान पर सफाई दे रहीं थी तो संसद में हंगामा शुरू हो गया। साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि उनके खिलाफ उस समय की सरकार ने षडयंत्र रचा था। उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ रचे गए षडयंत्रों के बावजूद न्यायालय में उनके खिलाफ आरोप सिद्ध नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि उनको आतंकवादी कहना कानून के खिलाफ है। साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि कोई आरोप सिद्ध हुए बिना उनको आतंकी बताना एक महिला के नाते, एक सन्यासी के नाते, एक सांसद के नाते उनके अपमानित करके का प्रयास किया गया है। साध्वी प्रज्ञान ने कहा कि आरोप सिद्ध नहीं होने के बावजूद एक महिला होते हुए उस समय की सरकार द्वारा शारिरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया।

साध्वी प्रज्ञा ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था, उनके इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को ट्वीट संदेश में कहा था ''आतंकी प्रज्ञा आतंकी गोडसे को देशभक्त बता रही है, भारत की संसद में यह एक दुखद दिन है।'' 

Post a Comment

0 Comments