हेड कॉन्सटेबल रिश्वत लेते गिरफ्तार, साथी भी चढ़ा विजिलेंस के हत्थे, 10 हजार रुपये का किया था डिमांड

दिल्ली: विजिलेंस की टीम ने पश्चिमी दिल्ली के राजौरी गार्डन में रिश्वत लेते दिल्ली पुलिस के एक हेड कॉन्स्टेबल को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. जबरन रिश्वत ले रहे हेड कॉन्स्टेबल के साथ उसका साथी भी विजिलेंस के हत्थे चढ़ गया. विजिलेंस की टीम दोनों को गिरफ्तार करने के बाद मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही है.

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार परिवार के साथ राजौरी गार्डन इलाके में रहने वाले प्रिंस ने हेड कॉन्स्टेबल के रिश्वत मांगने की शिकायत की थी. विजिलेंस को दी गई शिकायत में पीड़ित प्रिंस ने बताया कि राजौरी गार्डन थाने में जगदीश बतौर तैनात हेड कॉन्स्टेबल है. कुछ दिन पहले उसने सट्टा लगाने वालों के संबंध में जानकारी जगदीश को दी थी. 

शिकायत के अनुसार प्रिंस शाम के समय अपने दो दोस्तों के साथ ऑफिस में बैठा हुआ था, तभी जगदीश उसके पास आया और थाने चलने को कहा. पीड़ित प्रिंस ने पूछा किस लिए, जिसपर हेड कॉन्स्टेबल जगदीश ने थाने चलकर बात करने की बात कहीं. साथ ही पीड़ित के दोस्तों को भी साथ आने को कहा. पीड़ित के अनुसार, थाने आते ही जगदीश ने कहा कि तुम लोग ताश खेल रहे थे. तुम लोगों को जेल जाना पड़ेगा या 10 हजार रुपये दो. पीड़ित ने डर के मारे कुछ रुपये कम करने को कहा.

अंत में रिश्वत की रकम छह हजार में तय हुआ, इधर पीड़ित ने रुपये का इंतजाम करने की बात कही और घर चला आया. उसके बाद पीड़ित ने हिम्मत कर मामले की सूचना विजिलेंस को दी. विजिलेंस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एक टीम का गठन किया. उसके बाद पीड़ित को पाउडर लगे नोट देकर जगदीश से बात करने को कहा. जगदीश अपने साथ एक व्यक्ति को लेकर आया था. वार्ता के दौरान जैसे ही पीड़ित ने रुपये दिये, विजिलेंस टीम ने दोनों को पकड़ लिया.

Post a Comment

0 Comments