छात्रों ने मनाया शिक्षक दिवस और सम्मान समारोह का किया कार्यक्रम

बेगूसराय 【हरेराम दास】:शिक्षक दिवस के अवसर पर जिले के सरकारी एवं निजी शिक्षण संस्थानों में विभिन्न तरह के कार्यक्रम आयोजित की गई सदर प्रखंड के लोहिया नगर स्थित आर्यभट्ट कोचिंग संस्थान में आर्यभट्ट के निदेशक प्रोफेसर अशोक कुमार सिंह अमर को छात्रों द्वारा आरती उतारकर एवं मिठाई खिलाकर किया गया सम्मानित समारोह और सांस्कृतिक कार्यक्रम, कैलाशपुर स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय में छात्र-छात्राओं के द्वारा शिक्षक एवं शिक्षिकाओं को आरती उतारा गया,

राजकीयकृत उत्क्रमित मध्य विद्यालय राचीयाही कचहरी टोला बच्चों के द्वारा रंगारंग कार्यक्रम,उलाव मकरदही रोड स्थित गुरुकुल आश्रम में बच्चों के द्वारा प्रतियोगिता, पिपरा स्थित पैराडाइज चिल्ड्रन स्कूल में पेंटिंग, रतनपुर स्थित फंडामेंटल स्कूल में संस्कृत कार्यक्रम, साहपुर तक्षशिला स्कूल में बच्चों के द्वारा प्रतियोगिता, शनिचरा स्थान स्थित कल्प ज्योति पब्लिक स्कूल के परिसर में बच्चों के द्वारा रंगारंग कार्यक्रम एवं रिफाइनरी टाउनशिप स्थित VPS कंप्यूटर के तीनों शाखों पर जिला कल्याण केंन्द्र, बेगुसराय मे छात्र-छात्राओं के द्वारा शिक्षक दिवस का आयोजन किया गया कल्याण केंद्र में वीएन ठाकुर के द्वारा अच्छे काम करने वाले शिक्षकों को सम्मानित,

मटिहानी प्रखंड के प्राथमिक विद्यालय आकाश पुर में प्रधानाध्यापक सुरेंद्र कुमार के द्वारा सभी शिक्षकों को सम्मानित, मीरगंज स्थित राजकीयकृत मध्य विद्यालय में प्रधानाध्यापक सुनैना कुमारी के द्वारा सम्मानित, एवं लोहिया नगर स्थित वाइट कंप्यूटर सेंटर में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के द्वारा शिक्षकों को सम्मानित कार्यक्रम आयोजित किया गया

गुरु-शिष्य परंपरा भारत की संस्कृति का एक अहम और पवित्र हिस्सा है। जीवन में माता-पिता का स्थान कभी कोई नहीं ले सकता, क्योंकि वे ही हमें इस रंगीन खूबसूरत दुनिया में लाते हैं। कहा जाता है कि जीवन के सबसे पहले गुरु हमारे माता-पिता होते हैं। भारत में प्राचीन समय से ही गुरु व शिक्षक परंपरा चली आ रही है, लेकिन जीने का असली सलीका हमें शिक्षक ही सिखाते हैं। सही मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं।प्रतिवर्ष 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। भारत भर में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है। 'गुरु' का हर किसी के जीवन में बहुत महत्व होता है।समाज में भी उनका अपना एक विशिष्ट स्थान होता है।स्कूल-कॉलेज सहित अलग-अलग संस्थाओं में शिक्षक दिवस पर विविध कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

छात्र विभिन्न तरह से अपने गुरुओं का सम्मान करते हैं, तो वहीं शिक्षक गुरु-शिष्य परंपरा को कायम रखने का संकल्प लेते हैं। स्कूल और कॉलेज में पूरे दिन उत्सव-सा माहौल रहता है। इस दिन गुरु पूजन  विधान है  5 सितंबर  डॉ श्री  सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिवस है डॉ श्री सर्वपल्ली राधाकृष्णन विख्यात शिक्षाविद और दर्शनशास्त्री थे और दिनभर रंगारंग कार्यक्रम और सम्मान का दौर चलता है।

Post a Comment

और नया पुराने

BIHAR

LATEST