राज्य सरकार की गलत नीतियों के कारण काल के गाल में समा गयी शिक्षिका - मंटु

टुडे बिहार न्यूज नेटवर्क आरा


आरा/बिहिया[जितेंद्र कुमार]।भोजपुर जिले के शाहपुर प्रखंड की शिक्षिका नूतन सिन्हा की असामयिक मौत राज्य सरकार की गलत नीतियों के कारण हो गया। प्राथमिक विद्यालय पश्चिम पोखरा पासवान टोला शाहपुर की शिक्षिका नूतन सिन्हा की मौत ससमय वेतन भुगतान के अभाव में हो गई। उक्त बातें बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह मंटु के नेतृत्व में संघीय प्रतिनिधिमंडल उनके आरा स्थित आवास पर जाकर उनके परिवार से मुलाकात के दौरान कहा।उन्होंने कहा कि उनके बेरोजगार पति ट्यूशन पढाकर जीवन- यापन करते है।उनकी एक मात्र पुत्री 14 वर्ष की है जो वर्ग सात की छात्रा है।मृत शिक्षिका के भरोसे ही परिवार चलता था।वैसे तो जिले में लगभग दो दर्जन शिक्षक/ शिक्षिका काल के गाल में समा गए।उन्होंने कहा कि सरकार गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा हासिल करने के लिए जाँच तो करती है लेकिन ससमय वेतन की चिंता उन्हें नही होती। संघ के हर साथी इस दुख की घड़ी मे उनके परिवार के साथ खडा है।प्रतिनिधि मंडल मे जिलाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह मंटु ,कोषाध्यक्ष धर्मेन्द्र प्रसाद, उपाध्यक्ष परमेश्वर पासवान, सचिव दुर्गेश कुमार सिंह,शाहपुर प्रखंड अध्यक्ष सत्येन्द्र दूबे, संदेश के अध्यक्ष निर्भय कुमार सिंह, शिक्षक चन्द्रदेव कुमार सिंह, अरविंद तिवारी के अलावा दर्जनों शिक्षक शामिल थे।

Post a Comment

और नया पुराने

BIHAR

LATEST