बिहार में एनडीए सरकार में बढ़ रहा है अपराध का ग्राफ, महिलाएं सुरक्षित नहीं : ईशान राज

रिपोर्ट तारकेश्वर प्रसाद

आरा । आरा शहर के नाला मोड़ स्थित एक निजी हॉल में युवा राजद के नगर अध्यक्ष ईशान राज की अध्यक्षता में एकदिवसीय बैठक किया गया। युवा राजद के इस एकदिवसीय बैठक में बिहार में एनडीए सरकार में बढ़ते अपराध के ग्राफ और देश में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर विचार किया गया। साथ ही साथ इस बैठक में नोटबंदी, बेरोजगारी, गिरती अर्थव्यवस्था, शिक्षा और सुरक्षा जैसे तमाम मुद्दों पर राजद के युवा कार्यकर्ताओं ने अपनी-अपनी बातें रखी। बैठक में मौजूद आरा सदर विधायक अनवर आलम को नगर अध्यक्ष ईशान राज फूलमाला पहनाकर स्वागत किया। अध्यक्षीय संबोधन में ईशान राज ने बेरोजगारी और नोटबंदी पर अपनी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि हाल ही में आरबीआई के द्वारा नोटबंदी को लेकर जो रिपोर्ट सौंपी गई है वो काफी झकझोर देने वाली है। केंद्र सरकार ने नोटबंदी के जरिए इस देश के लोगों को बरगलाने का काम किया है। नरेंद्र मोदी ने जिस ऊर्जा के साथ नोटबंदी के फायदे गिनाने का काम किये थे उसके परिणाम आज जनता के सामने हैं। नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने सवाल उठाया कि क्या टेरर फंडिंग रुक गई, क्या आतंकवाद रुक गया या फिर कश्मीर में पत्थरबाजी रुक गई। न तो कालाधन पकड़ा गया और न ही कालेधन रखने वाले लोगों के नाम अबतक उजागर हो पाया है। इससे साफ जाहिर होता है कि नोटबंदी गरीबों को सताने के लिए किया गया था, कितने युवा नोटबंदी में बेरोजगार हो गए इसका खामियाजा नरेंद्र मोदी को आगामी 2019 के आम चुनाव में भुगतना पड़ेगा। वहीं दूसरी ओर राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए ईशान ने कहा कि सुशासन बाबू अभी गहरी नींद में सोए हुए हैं। महिलाओं के साथ अत्याचार हो रहा है पूरे बिहार में हत्या, लूट, छेड़खानी और बलात्कार की सैकड़ों वारदातें सामने आ रही हैं मगर सुशासन बाबू की अंतरात्मा अभी नहीं जगी है। यह सुशासन की नहीं कुशासन की सरकार है जहाँ सबसे ज्यादा आज महिलाएं खुद को असुरक्षित महसूस कर रही हैं।
बैठक में मौजूद आरा विधायक व राजद नेता अनवर आलम ने कहा कि बिहिया का बहुचर्चित घटना से नीतीश कुमार की छवि राष्ट्रीय स्तर पर झुक गई है। मुजफ्फरपुर से लेकर भोजपुर तक आये दिनों सैकड़ों लीटर शराब पकड़े जाते हैं कहाँ है सुशासन बाबू की शराबबंदी कानून का असर, इस राज्य में अब बस सस्ती लोकप्रियता कमाने की राजनीति की जा रही है, जमीनी स्तर पर नीतीश कुमार कार्य करने में विफल रहे हैं। बिहार में एनडीए सरकार के गठन के बाद अपराध का ग्राफ बढ़ा है और विकास का ग्राफ गिरा है।
इस बैठक में राजद नेता भीम यादव, रजनीश यादव, चंदन यादव, पंकज सम्राट, चंदन यादव, अभ्यानंद, नीरज पांडे, जौहर हुसैन, भोला महतो, अभिषेक पांडे, मोहम्मद सद्दाम खान, सत्येंद्र कुमार, सुरेश कुमार, मोहित कुमार, चंदन कुमार, संजीत कुमार, अतुल तिवारी, अभिषेक यादव, शंकर यादव, हीरा ओझा, शमा यादव, मोहम्मद जुबेर, सलीम, सद्दाम, सलमान, नवीन पांडे, चांद, अफरोज आलम, अशोक राम, रिंकू, अशोक, मोहम्मद ईशान राज आदि के अलावा दर्जनों युवा राजद के कार्यकर्ता मौजूद थे।

Post a Comment

और नया पुराने

BIHAR

LATEST