शिक्षा को व्यपारीकरण से बचना ही आज के शिक्षकों और छात्रो का मुल उदेस्य--प्रिंस बजरंगी

तारकेश्वर प्रसाद

आरा। शिक्षक दिवश के अवसर पर इन्फो कम्पुटर सेंटर जगदीशपुर आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि युवा जदयू के रास्ट्रीय सचिव प्रिंस बजरंगी ने कहा की हमारे जिवन मे माता पिता के बाद एक गुरु का सबसे बडा योगदान होता है, वर्तमान मे शिक्षा जगत को हम छात्र छात्राओ को व्यपार होने से बचना है, और यह तब तक सम्भव नही है जब तक इसमे शिक्षको की सहयता नही मिलता,एक सच्चे गुरु का जिस प्रकार कर्तब्य है शिष्य को गलत रास्ते पर जाने से रोकना ठीक वैसे ही आज के वर्तमान पर्स्थीती मे शिक्षा को व्यपार से बचना ही एक अच्छे शिक्षक का पुनीत कर्तब्य है, हमारे देश के पुर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी जी ने कहा था , आज के दौर मे जब तक इन्सान कम्पुटर का शिक्षा गर्हण नही करता तो जिस तरह से दुनिय टेक्नोलॉजी के सहारे बहुत तेजी से आगे बाढते जा रही है इंसान का वो डिग्रिया कोई काम की नही होगी,इसलिय हमे आज के जबाने मे टेक्नोलॉजी से जुड़ना होगा ,कार्यकर्म मे instute के डायरेक्टर मंतोष कुमार, निकेश पंडेय, अरविंद सिन्ह, चंदन दुबे,एत्यदी लोग मौजुद थे

Post a Comment

और नया पुराने

BIHAR

LATEST